30.1 C
New Delhi
Monday, July 22, 2024

क्या क्रिमिनल जस्टिस: अधुरा सच में मुकुल के खिलाफ एक बड़ा सबूत बदल देगा माधव मिश्रा का नजरिया?

माधव मिश्रा अपने करियर के सबसे चुनौतीपूर्ण मामलों में से एक का सामना कर रहे हैं, ऐसे में अपने मुवक्किल का विश्वास जीतना के लिए मशहूर लॉयर को एक अनूठी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। डिज्नी+ हॉटस्टार की अवॉर्ड विनिंग सीरीज हॉटस्टार स्पेशल्स क्रिमिनल जस्टिस: अधुरा सच के तीसरे सीजन के चौथी एपिसोड में मुकुल को एक एडल्ट के रूप में आज़माए जाने की संभावना का सामना करना पड़ता है। यह खबर उसे तोड़ देती है, लेकिन वह खुद को बचाने के लिए एक खतरनाक और मैनिपुलेटिव प्लान बनाता है। ऐसे में जैसा कि देश उसकी बहन और प्यारी बाल कलाकार ज़ारा की मृत्यु पर शोक जाहिर करता है, वह हत्या में शामिल होने के आरोपों से बचने की उम्मीद करता है।

अवंतिका, एक मां के रूप में अपनी प्रवृत्ति के अनुसार हत्या में मोती की इंवॉल्वमेंट के बारे में शक जाहिर करती है, लेकिन मीडिया के साथ एक इटरव्यू करने का उसका फैसला गलत साबित जाता है। जैसे ही ज़ारा के हत्यारे को खोजने के लिए जांच अधिकारियों पर दबाव बढ़ता है, जुवेनाइल होम की अंधेरी रातें मुकुल को परेशान करने लगती है क्योंकि वह बदमाशों के बीच संघर्ष करता है। बाकी कैदियों के प्रति उसकी उपस्थिति और रवैया उसे और भी अलग करता है। इस बीच, माधव मिश्रा की इंवेस्टिगेशन जारी रहती है। वह उस काली रात से और भी चौंकाने वाले अंशों को उजागर करता है, जबकि अवंतिका को नए सबूत मिलते हैं जो मुकुल की बेगुनाही में उसके विश्वास को मिटा देता है।

माधव मिश्रा मुकुल के व्यवहार के पीछे के कारणों को समझने के लिए अपनी कोशिशे जारी रखता है, लेकिन मामला हाथ से निकलता जाता है। हालांकि, अगर मामले पर बने रहने का उनका फैसला लायक होगा तो यह देखा जाना बाकी है। दूसरी ओर नीरज को एक बड़ा सबूत मिलने का मौका मिल जाता है जो माधव मिश्रा के लिए केस को पूरी तरह से बदल कर रख देता है।

Related Articles

Latest Articles